Merry Christmas 2023 :- आखिर क्यों 25 दिसंबर को क्रिसमस डे को मनाया जाता है ? जानिए इस पर्व के इतिहास के बारे में।

Neha Gurung

Merry Christmas 2023 

Merry Christmas 2023 :- आप सभी को मैरी क्रिसमस ही हार्दिक शुभकामनाएँ। आप सभी को बता दिया जाए कि अलग अलग धर्म में अलग अलग तयहोर मनाये जाते है। सभी अपने तयहोर बड़े ही सच्चे मन और धूम धाम से मनाते है। तेहारो का हमारे जीवन का ख़ास महत्व होता है। इन तयहोर के वजह से ही कई गुना ख़ुशी हमारे जीवन में और भी ज़्यादा बढ़ जाती है। अगर बात की जाए क्रिसमस की तो इस तयहोर को ईसाई धर्म के लोग ज़्यादा मनाते है। आज कल तो वैसे सभी ही लोग अभी तयहोर बड़े ही सच्चे मन से मनाते है। आइए तो फिर आगे हम बात करते है क्रिसमस तयहोर के बारे में और भी विस्तार पूर्वक से।

Merry Christmas History :-

आइए आगे अब हम बात करते है क्रिसमस के इतिहास को तो आप सभी को बता दिया जाए कि ईसाई धर्म के अनुसार इस दिन प्रभु ईशा मसीह का जन्म हुआ था। इस क्रिसमस के इतिहास में पहले से ही कई मतभेद सुनने को मिलेंगे। कई कहते है के क्रिसमस को ईशा मसीह के जन्म दिन के ऊपर मनाया जाता है वही कई कहते है कि क्रिसमस को यीशु मसीह के जन्म से ही पहले मनाया जाता था। इस का कुछ इतिहास ऐसा भी बताता है कि क्रिसमस तयहोर रोमन सैंचुनेलिया का नया रूप है।

Gold :- New Year के मौके पर सोने और चाँदी की कीमत पर पड़ी भारी मात्रा की गिरावट, टूट पड़े लोग।

आप सभी को बता दिया जाए कि सैंचुनेलियाँ रोमन देवता है। कहा जाता है कि जब ईसाई धर्म की स्थापना हुई थी उस के बाद से ही लोगो ने इशू मसीह को ही अपना प्रभु मान कर सैंचुनेलियाँ तयहोर की क्रिसमस तयहोर के रूप में मनाने लगे। आप सभी को बता दिया जाए एक सूत्र के अनुसार लोग 98 वर्ष से लोग इस पर्व को बड़े ही धूम धाम से मनाते आ रहे है।

परन्तु सन 137 में रोमन बिशप ने ही इस क्रिसमस डे को मानाने की घोषणा की थी। परन्तु उस के बाद से भी इस तयहोर को मनाने का निष्चत नहीं हुआ था। पर 350 से रोमन पादरी यूलियस ने 25 दिसंबर से ही इस महान पर्व को मनाने की घोषणा की गयी। तब से क्रिसमस को 25 दिसंबर के रूप में मनाया जाता है।

Merry Christmas 2023 :- आखिर क्यों 25 दिसंबर को क्रिसमस डे को मनाया जाता है ? जानिए इस पर्व के इतिहास के बारे में।

Merry Christmas : Who Is Santa Claus ?

आप सभी को बता दिया जाए कि ईसाई धर्म के यीशु मसीह की मौत के 280 साल बाद संत निकोलस का जन्म हुआ था। संत निकोलस काफी ज़्यादा अमीर घराने से संभंधित रखते थे। वह काफी ही ज़्यादा दयालु और नरम सभाव के थे। आप सभी को बता दिया जाए कि सांता क्लॉस इतने नरम स्भाव के थे कि हमेशा गरीब लोगो की ज़्यादा से ज़्यादा मदद किया करते थे।

हालाकि उन्होंने अपनी ज़्याददाद सम्पति भी गरीब लोगो के ऊपर न्योछावर करदी थी। वह बच्चो के बहुत प्यारे थे। बच्चे उन्हें काफी ज़्यादा प्यार और इज़्ज़त दिया करते थे। तभी से उन्हें सारे सांता क्लॉस के नाम से जाने जाने लगे। वह बच्चो को गिफ्ट आदि सब दिया करते थे। उन्हें हर कोई प्यार करता था। वह दूसरे के दुःख को अपना दुःख समझते थे और लोगो की दिल से मदद करते थे।

Merry Christmas Celebration :-

आप सभी को बता दिया जाए कि क्रिसमस का तयहोर आने से कुछ दिन पहले ही घरो की साफ़ सफाई शुरू हो जाती है। लोग क्रिसमस के दिन गिरजाघर जा कर गॉड के आगे कैंडल जलाते है और सच्चे मन से गॉड के सामने प्रे करते है। इस दिन गिरजाघर में काफी ही ज़्यादा भीड़ होती है। लोग एक दूसरे को गिफ्ट्स देते है और मुबारकबाद देते है। इस दिन लोग घर में शाम को केक काटते है और अच्छे अच्छे पकवान भी बनाते है।

Merry Christmas 2023 :- आखिर क्यों 25 दिसंबर को क्रिसमस डे को मनाया जाता है ? जानिए इस पर्व के इतिहास के बारे में।

दरिंदे Vivek Bindra ने की अपनी पत्नी से मार पीट, शरीर पर पड़े निशान, पूरी खबर देखने लिए अभी पढ़े

ईसाई धर्म के लोग इस दिन बहुत ज़्यादा खुश होते है। वह एक दूसरे को मिठाइयां भी देते है। इस दिन चर्च को काफी ज़्यादा अच्छे तरीके से सजाया होता है। लोग घर में क्रिसमस ट्री ले कर आते है और उसे डेकोरेट कर ते है। खुद भी लोग अच्छे और नए कपडे पहनते है। इस दिन लोग सभी में सक्र्तमक वेहवार फैलाते है। इस तरह से बड़े ही धूम धाम से इस डे को मनाया जाता है।

Share This Article
Leave a comment