Atal Bihari Vajpayee के जन्म दिवस के अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे भारत के बड़े बड़े राजनेता। पढ़िए पूरी ख़बर।

komal

Atal Bihari Vajpayee :-

अटल बिहारी वाजपेयी को आप सभी जानते होंगे। ये भारत के पूर्व प्रधानमंत्री थे। इन का जन्म 25 दिसंबर 1924 को मध्यप्रदेश में हुआ था। ये तीन बार भारत के प्रधान मंत्री बन चुके थे। इन्होने प्रधान मंत्री के पद पर बैठ क्र काफी सुधार किया था। ये महान कवी के नाम से भी जाने जाते है ये कविताये भी लिखा करते थे। इन्होने अपनी शिक्षा महारानी लक्ष्मी बाई सरकारी विद्यालय से की थी।

इन को बहुत  बार सम्मानित किया गया है तथा इन्हे कई बार अवार्ड भी मिल चुके है। इन्हे भारत रतन अवार्ड से भी सम्मानित किया गया है। हालांकि उन्होंने शादी नहीं की थी और न ही उनकी कोई संतान थी फिर भी उन्होंने नमीता कौल भट्टाचार्य को अपनी पुत्री के रूप में पाला था।

Gold :- क्रिसमस के मौके पर मिल रहा है आपको सोने और चांदी के ऊपर भारी डिस्काउंट। जानिए आज की तारीख में इसकी कीमत के बारे में।

Atal Bihari Vajpayee’Birthday :-

हम आप को बता दे कि आज भारत के पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी जी का जन्म दिन है। इस अवसर पर भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी था उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी तथा और भी बहुत से लोग शामिल हुए थे। नरेन्द्रे मोदी जी ने कहा की अटल बिहारी जी ने जो भारत देश के लिए किया था वो सदा हमारे लिए प्रेयणा का स्त्रोत बनी रहेगी उन्होंने हमेशा सच्चाई का साथ दिया था।

हमेशा भारत वासियो की भलाई के कार्य किये थे। मुख्य मंत्री योगी जी ने कहा कि अटल बिहारी जी ने अपने प्रधान मंत्री के पद पर बैठ हमेशा जनता का कल्याण किया था। उन्होंने अपने कार्य काल में ये सभीत कर दिया था कि स्थिर सरकारे कितनी फायदेमंद हो सकती है। ये परम्परा आज भी भारत में मौजूद है।

Atal Bihari Vajpayee के जन्म दिवस के अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे भारत के बड़े बड़े राजनेता। पढ़िए पूरी ख़बर।

योगी जी ने कहा की अटल बिहारी जी कभी भी परेशानियों से घबराते नहीं थे बल्कि डट कर उन का मुकाबला करते थे। अटल बिहारी जी कभी से दुश्मनो से डरते नही थे बल्कि उन का मुकाबला करते थे। अटल बिहारी जी के जन्म दिन के अवसर पर नरेंद्र मोदी जी ने कई हस्तियों को सम्मानित भी किया है।

आइये हम आप को बता ते है कि अटल बिहारी जी ने कैसे राजनीती में अपना कदम बढ़ाया। अटल बिहारी जी ने अपनी राजनीत की यात्रा 1957 में शुरू की थी। ये एक युवा विधायक के रूप में लोक सभा के लिए वचन गए थे।

Kia Sonet 2024 के अंदर आपको मिलने वाले हैं एक से एक बढ़िया फीचर्स जानिए इस कार की कम कीमत के बारे में।

1996 में ये राजनितिक में अपनी चार्म सीमा पर पहुंच गए थे। इन्होने प्रधान मंत्री बन ने के उपरांत अपना सारा जीवन जनता का कल्याण में ही लगा दिए। इन्होने युवाओ को आगे बढ़ने के लिए हमेशा प्रोत्साहित किया था। इन्होने भारत में गरीबो के कल्याण के लिए ब्वहूत कुछ किया था। इन्होने भारतीय स्त्रियों की स्तिथि में बहुत सुधर किया था।

Atal Bihari Vajpayee : मृत्यु 

अटल बिहारी जी को  2009 में दिल का दौरा आया था। जिस कारन वो बोलने में असमर्थ हो गए थे। इस के कुछ समय पश्चात उन की किडनी में कुछ दिक्कत आ गयी थी जिस कारन उन्हें हस्पताल में भर्ती कार्य गया था। परन्तु 16 अगस्त 2018 को इनकी मृत्यु हो गयी थी। अगले दिन जब इन का अंतिम संस्कार किया गया तो भारत के बहुत से राज नेता तथा जनता शामिल हुई थी। इन की मृत्यु पर भारत की जनता ने बहुत अफ़सोस मनाया था।

Share This Article
Leave a comment